पुलिस ने दिखाया अपना दम, सांसद के खिलाफ महाकाल थाने में एफआईआर

slider अपराध राजनीति शहर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के महाकाल दर्शन के दौरान उज्जैन आलोट संसदीय लोकसभा से सांसद चिंतामणि मालवीय ने मंदिर में प्रवेश को लेकर पुलिसकर्मियों को गालियां दी थी जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खुब वायरल हुआ, वीडियो के सामने आने पर पुलिस ने वीडियो की जाँच की और जांच के बाद आज महाकाल थाना पुलिस ने सांसद और उनके समर्थकों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा सहित आचार संहिता उल्लंघन धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।
उज्जैन आलोट लोकसभा सीट से सांसद चिंतामणि मालवीय हमेशा विवादों में रहते हैं और अपनी हरकतों से वे मीडिया सुर्खी बटोरने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं सत्ता का इतना नशा सांसद पर छाया की उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उज्जैन दर्शन के दौरान महाकाल मंदिर में वीआईपी गेट से जाने की कोशिश की जहाँ उनका सुरक्षाकर्मियों और पुलिस कर्मियों से विवाद हो गया इससे पूर्व हेलीपेड पर भी प्रवेश के दौरान सांसद और भाजपा नेताओं की पुलिस से कहासुनी हुई थी, मंदिर में सांसद ने अपने समर्थकों को भी ले जाने का प्रयास किया जहां पुलिसकर्मीयो ने उनके समर्थक और सांसद चिंतामणि मालवीय को रोकने का प्रयास किया तो पुलिसकर्मियों के साथ सांसद चिंतामणि मालवीय ने दुर्व्यवहार करते हुए गालियां दे दी, सांसद का वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस हरकत में आई और पुलिस ने इस मामले की जांच करते हुए सांसद चिंतामणि मालवीय और उनके आधा दर्जन से अधिक समर्थकों के खिलाफ महाकाल थाने में शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने आचार संहिता उल्लंघन की धारा सही महाकाल मंदिर एक्ट की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है
इधर सांसद चिंतामणि मालवीय का कहना है कि प्रशासन कई बार अपनी मर्यादा तोड़ता है तो हम जनप्रतिनिधियों को भी मर्यादा तोड़ ना पड़ती है सांसद के इस बयान के बाद ऐसा लग रहा है कि उन्हें उनके द्वारा उपयोग किए गए पुलिसकर्मियों के लिए अपशब्दों का कोई पछतावा नहीं है गौरतलब है कि अपनी भाषा शैली और हरकतों के कारण आए दिन सांसद चिंतामणि मालवीय विवादों में घिरे रहते हैं।

Spread the love