गाजा से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 45, राहत शिविरों में लाखों लोग

तमिलनाडु के तटीय जिलों में गाजा चक्रवात से मरने वालों की संख्या बढ़कर 45 हो गई है। राज्य में गाजा चक्रवात से भारी नुकसान हुआ है। प्रदेश में राहत के लिए 493 शिविर बनाए गए हैं। इनमें करीब ढाई लाख लोग रह रहे हैं। मुख्यमंत्री ईके पलानीसामी ने कहा कि वे प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे। वहीं उन्होंने मरने वाले लोगों के परिजनों को 10 लाख रुपए मुआवजा देने का भी एलान किया है। जबकि गंभीर रूप से घायल लोगों को एक लाख रुपए और घायलों को 25 हजार रुपए की आर्थिक मदद का एलान किया है। तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित तिरुवरूर, पुडुकोट्टाई, त्रिची, कुड्डालोर, तंजावुर, तिरूवानामलाई और नागपट्टनम हैं।
इससे पहले मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात गाजा ने शुक्रवार को नागापटनम और वेदरनयम के बीच तमिलनाडु तट पार कर लिया था। जिसके बाद तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश हुई। 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं ने पेड़ और बिजली के तारों को नुकसान पहुंचाया। कई स्थानों पर लगी टीन की छत भी हवा के कारण उड़ गईं। अधिकारियों के अनुसार चक्रवात से 28 पशुओं की भी मौत हो गई है। तमिलनाडु के हेल्थ सेक्रेटरी का कहना है कि लोगों की मदद के लिए 200 से अधिक डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ मौजूद है।


Hit Counter provided by laptop reviews