पूरा दिन उज्जैन में विभिन्न स्थानों पर पहंुची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

उज्जैन। मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सोमवार को अपने 2 दिवसीय उज्जैन प्रवास के दौरान सबसे पहले सिंधी कॉलोनी प्रकाश नगर स्थित आंगनवाड़ी केंद्र पहुंची। वहां गर्भवती माताओं और बच्चों से मिलीं। उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्र पहुंचकर बच्चों से बातचीत करते हुए कहा कि उन्हें बच्चों से मिलना था इसलिए उज्जैन आने के बाद सबसे पहले वे बच्चों से मिलने के लिए आईं हैं।
राज्यपाल ने आंगनवाड़ी केंद्र के बच्चों को फलों की टोकरी उपहार स्वरूप भेंट की। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों में गर्भवती माताओं और छोटे बच्चों के लिए पौष्टिक भोजन की व्यवस्था शासन द्वारा की गई है। गर्भवती माताओं को ऐसा भोजन उपलब्ध कराया जाना चाहिए जो स्वादिष्ट के साथ.साथ पौष्टिक भी हो। बच्चों के लिए पौष्टिक एवं संतुलित भोजन उनके विकास के वर्षों में बहुत सहायता करता है।
बच्चे बढ़ेंगे तभी देश का विकास हो सकेगा। गर्भावस्था में महिलाओं को विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना भी गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए इसी उद्देश्य से प्रारंभ की गई है।
राज्यपाल ने इसी दौरान कमरी मार्ग स्थित मज़ारे नज़मी परिसर में बोहरा समाज के धर्मगुरू हिज होलीनेस सैयदना आलीकद्र मुफद्दल सैफुद्दीन साहब से सौजन्य भेंट की। इस दौरान राज्यपाल ने सैयदना साहब से कुशलक्षेम पूछी तथा उन्हें उपहार दिया। सैयदना साहब ने भी राज्यपाल को भेंटस्वरूप शॉल और माला दी। राज्यपाल ने सैयदना साहब से औपचारिक चर्चा भी की। इस दौरान विधायक डॉ मोहन यादव और जगदीश पांचाल मौजूद थे। सैयदना साहब ने विधायक और पांचाल को भी शॉल भेंट की। साथ ही महाकालेश्वर मंदिर पहुंचकर श्री महाकालेश्वर भगवान का पूजन.अभिषेक किया।
उज्जैन दौरे के दौरान राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल ने जिला अस्पताल परिसर में स्थित चरक भवन के विभिन्न वार्डों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान नवजात बच्चों की माताओं के स्वास्थ्य और उपचार के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की।


Hit Counter provided by laptop reviews